Advertisement

[ 200+ Latest ] best Desi Attitude Shayari whatsapp status in hindi 2022, 2023, 2024

[ 200+ Latest ] best Desi Attitude Shayari  whatsapp status in hindi 2022, 2023, 2024


Read desi shayari desi boy shayari  And Share On Facebook And Whatsapp With Your Frieds. Find Great Collection Of best desi yaari status ,desi shayari hindi mai, desi boy attitude shayari, desi love shayaridesi ladki ki shayari - Theshayariquotes

[ 200+ Latest ] best Desi Attitude Shayari  whatsapp status in hindi 2022, 2023, 2024, 2025, 2026 - Theshayariquotes.xyz


बड़े महँगे किरदार है ज़िंदगी में साहिब, 
समय-समय पर सबके भाव बढ़ जाते हैं


दम Status मे नहीं, 
अपने Look में होना चाहिये


मुझे क्या डराएगा मौत का मंजर 
हमने तो जन्म ही कातिलों की बस्ती में लिया है


हर किसी को सफाई मत दिया करो, 
तुम इंसान हो कोई Detergent Powder नहीं


मिल सके आसानी से उसकी ख्वाहिश किसे है? 
ज़िद तो उसकी है, जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं


अभी अकड़ में चूर हूँ,  
इसीलिए तो इतना मशहूर हूँ


बात उन्ही की होती है, 
जिनमे कोई बात होती है


दुश्मन को जलाना और दोस्त के लिए, 
जान की बाज़ी लगाना हमारी फितरत है


दौलत तो विरासत में मिलती है,
 लेकिन पहचान अपने दम पर बनानी पड़ती है
 

लहरों का सुकून तो सभी को पसंद है
 लेकिन तुफानो में कश्ती निकालने का मजा ही कुछ और है


जब तक शांत हूँ शोर कर लो क्यूकी, 
जब मेरी बारी आयेगी आवाज़ भी नही निकाल पाओगे


सुधरी हे तो बस मेरी आदते, 
वरना मेरे शौक, 
वो तो आज भी तेरी औकात से ऊँचे हैं


जवाब देना तो हमें भी आता है,, 
लेकिन आप इस काबिल नहीं


कुछ पन्ने क्या फटे ज़िन्दगी के किताबों के, 
जमाने ने समझा हमारा दौर ही खत्म हो गया


इंसान सिर्फ आग से नहीं जलता, 
कुछ लोग तो हमारे अंदाज से जल जाते है


खून में शामिल हैं नवाबी मेरे, 
मैं किसी हसीना का गुलाम नही हो सकता


मैं झुक नहीं सकता मैं शौर्य का अखंड भाग हूँ 
जला दे जो दुश्मन की रूह तक मैं वही जाट की औलाद हूँ


करता वही हूँ जो मुझे पसंद है, 
माना की उम्र कम है लेकिन हौसला बुलंद है


सॉरी पगली तू तो लेट हो गयी, 
तेरे चककर में तेरी सहेली सेट हो गई


आदत नहीं है फ़ालतू बात करने की 
और लोग इसे मेरी अकड़ समझ लेते है


मुझे ख़ुद को बेक़सूर सबित करने की 
आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं जानता हूँ कि मैं बेक़सूर हूँ


दुनिया से हमेशा आगे चलो, 
यूंकि पीछे तो दुश्मन भी पड़े हैं


अकेला आया था, अकेला ही जाऊंगा, 
हाँ हारा हूँ, एक ना एक दिन जीत के दिखाऊंगा


जिन्दगी जीते है हम शान से,
 तभी तो दुश्मन जलते है हमारे नाम से
 

औकात की बात मत कर ऐ दोस्त.. 
लोग तेरी बन्दूक से ज्यादा मेरे आँखों से डरते है


देख लेना एक दिन हमारी जिंन्दगी में जो भी होगा, 
थोडा Late जरुर होगा पर Latest होगा


अभी कांच हूँ तो चुभ रहा हूँ,
 जिस दिन आइना बन जाऊंगा, 
 उस दिन पूरी दुनिया देखेगी
 

खवाहिश नही मुझे मशहुर होने की , 
आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है


जाट का बेटा कितना भी निकम्मा 
और कमीना क्यू ना हो पर वो कहलाता तो चौधरी साहब ही है


बड़े महँगे किरदार है ज़िंदगी में साहिब,
 समय-समय पर सबके भाव बढ़ जाते हैं
 

शीशा कमज़ोर बहुत होता है, 
मगर सच दिखाने से घबराता नहीं है


अकड़ती जा रही है, हर रोज गर्दन की 
नसें आज तक नहीं आया हुनर सर झुकाने का


जो कल तक हमारे दम पर उड़ते थे,
 वो आज मुझे आसमान के बारे में बता रहे है
 

जिस दिन हमने अपना देसी अंदाज़ दिखाया 
उस दिन ये Attitude वाली लड़कियां खड़े खड़े ढेर हो जाएंगी


जब दुशमन पत्थर मारे तो उसका जवाब फुल से दो, 
पर वो फुल उसकी कबर पर होना चाहिये


तेरी अकड़ मेरे पैरों की धूल हम जाट हैं बेटा ये मत भूल


मत करो मेरी पीठ के पीछे बात जाकर कोने में; 
वरना जिंदगी बीत जाएगी बस रोने में


तुम जो आए ज़िन्दगी में,
ज़िन्दगी बकवास बन गयी


अलग है अंदाज़ मेरा किसी 
और जैसा बनने का कोई शौंक नहीं


वो रूठने में expert… 
मैं मनाने में perfect


पानी में तैरना सिख लीजिए मेरे 
दोस्तों आंखों में डूबने का अंजाम बुरा होता है


मेरा Attitude तो मेरी निशानी है,
 तू बता तुझे कोई परेशानी है
 

जिनमें अकेले चलने का #होंसला_होता हैं, #
उनके_पीछे एक दिन #काफिला होता हैं


यकीन करना सीखो शक तो सारी दुनिया करती है


सवाल आप हो तो जवाब हम भी है, 
आप ईट हो तो जनाब पत्थर हम भी है


कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें… 
साला कोई निकाल के तो देखे

हम किसी का क़र्ज़ नहीं रखते, 
एक सुनते है तो चार सुना देते है


सफाई देना छोड़ दो जो गलत करे उसे ठोक दो


बेशक पहन लो हमारे जैसे कपडे और ज़ेवर , 
पर कहा से लाओगे, जाट वाले तेवर


हम मौत भी पीछे से धोखा देकर आती है हमें, 
दुश्मन की क्या औकात जो सामने से वार करे


बड़े महँगे किरदार है ज़िंदगी में साहिब, 
समय-समय पर सबके भाव बढ़ जाते हैं

Post a Comment

0 Comments

Advertisement